क्यों मनाया जाता है विश्व शांति दिवस, क्या है इसका महत्व 2021

International Day Of Peace 2021, विश्व शांति दिवस 2021, विश्व शांति दिवस की थीम, विश्व शांति दिवस का इतिहास

Advertisement

दुनिया भर में हर साल 21 सितंबर को विश्व शांति दिवस या अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस (International Day of Peace) मनाया जाता है। माना जाता है कि जीवन में शांति का बहुत महत्व होता है बिना शांति के जीवन का कोई आधार नहीं होता है। वैसे यह विश्व शांति दिवस या अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस को मनाने उद्देश्य युद्ध पर विराम लगाना शांति ठहराव के लिए किया जाता है। विश्व शांति दिवस को मनाने का उद्देश्य देश में और देश के नागरिकों के बीच शांति व्यवस्था कायम करना देश के बीच युद्ध पर वायरल लगाना है। विश्व शांति दिवस पर संयुक्त राष्ट्र ने दुनियाभर में शांति का संदेश पहुंचाने के लिए कला से लेकर साहित्य, संगीत, सिनेमा और खेल जगत की प्रसिद्ध हस्तियों को शांतिदूत नियुक्त किया हुआ है।

विश्व शांति दिवस का इतिहास

विश्व शांति दिवस को मनाने का उद्देश्य देश के बीच शांति कायम करना। इसके लिए सयुंक्त राष्ट्र ने 1981 में विश्व शांति दिवस मनाने की घोषणा की थी। इसके बाद 1982 में पहली बार विश्व शांति दिवस मनाया गया। हर साल 1982 से लेकर 2001 तक सितंबर महीने के तीसरे मंगलवार को विश्व शांति दिवस के रूप में मनाया जाता रहा, लेकिन 2002 से यह 21 सितंबर को मनाया जाने लगा।

विश्व शांति दिवस पर बनाई जाती है घंटी

विश्व शांति दिवस पर पर संयुक्त राष्ट्र न्यूयॉर्क में शांति की घंटी बजाई जाती है। इस घंटी के एक तरफ लिखा हुआ है कि विश्व में शांति सदैव बनी रहे। यह घंटी की खासियत यह है कि यह घंटी अफ्रीका को छोड़कर सभी महाद्वीपों के बच्चों के दान किए गए सिक्कों से बनाई गई है। इसे जापान के यूनाइटेड नेशनल एसोसिएशन ने तोहफे में दिया था।

विश्व शांति के लिए भारत का मूल मंत्र

विश्व शांति दिवस पर भारत के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने शांति बनी रहने के लिए 5 मूल मंत्र दिए थे। ये ‘पंचशील के सिद्धांत’ के तौर पर भी जाने जाते हैं। विश्व में शांति की स्थापना के लिए एक-दूसरे की प्रादेशिक अखंडता बनाए रखने और सम्मान किए जाने की बात कही गई थी।

विश्व शांति दिवस पर क्यों उड़ाए जाते है कबूतर

कबूतर को शांति का प्रतीक माना जाता है। इसलिए शांति का संदेश देने के लिए जगह-जगह पर कबूतर उड़ाए जाते है। कबूतर उड़ाने की परंपरा प्रचीन काल से चली आ रही है। कबूतर को शांत स्वभाव का पक्षी माना जाता है। यही वजह है कि इसे शांति और सदभाव का प्रतीक बनाया गया है।

क्या है इस साल विश्व शांति दिवस की थीम

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस को 24 घंटे अहिंसा और संघर्ष विराम के माध्यम से शांति के आदर्शों को मजबूत करने के लिए समर्पित दिन के रूप में घोषित किया है।

Read Also:

Advertisement

Latest MMM Article

Advertisement